8 अक्टूबर को ही क्यों मनाया जाता है भारतीय वायु सेना दिवस

Image Credit - Unsplash

ऐसे में आपको भारतीय वायु सेना के स्थापना दिवस से जुड़ी कुछ खास बातों को जरुर जानना चाहिए। आखिर 8 अक्टूबर को ही वायु सेना दिवस क्यों मनाया जाता है।

Image Credit - Unsplash

वायु सेना से जुड़ी इन बातों को जानें

भारतीय वायु सेना की स्थापना 1932 में हुई थी। उस वक्त देश में अंग्रेजों की हुकूमत थी। उस दौरान भारतीय वायु सेना को रॉयल इंडियन एयर फोर्स के नाम से जाना जाता था।

Image Credit - Unsplash

1932 में हुई थी भारतीय वायु सेना की स्थापना

बता दें कि भारतीय एयरफोर्स दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में स्थित हिंडन वायु सेना स्टेशन एशिया में सबसे बड़ा है।

Image Credit - Unsplash

दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना

भारतीय वायु सेना अपनी स्थापना के बाद से अब तक कई युद्धों में शामिल हो चुकी है। भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ चार बार युद्ध में हिस्सा लिया है।

Image Credit - Unsplash

कई युद्ध में दमखम दिखा चुकी है वायु सेना

भारतीय वायुसेना का प्रमुख अधिकारी चीफ ऑफ एयर स्टाफ कहलाता है और इसका पद चीफ एयर मार्शल का होता है।

Image Credit - Unsplash

चीफ ऑफ एयर स्टाफ के पास होती है अहम जिम्मेदारी

भारतीय वायु सेना में शामिल होने के लिए लाखों युवा आवेदन भेजते हैं, लेकिन कुछ ही ऐसे लोग होते हैं। जिन्हें भारतीय वायु सेना में जगह मिल पाती है।

Image Credit - Unsplash

कैसे कर सकते हैं आवेदन

बता दें कि 12वीं के बाद अगर आप भी इंडियन एयर फोर्स ज्वाइन करना चाहते हैं तो NDA परीक्षा क्वालीफाई करने के बाद भारतीय वायु सेना में शामिल हो सकते हैं।

Image Credit - Unsplash

NDA परीक्षा करनी होगी क्वालीफाई

भारतीय वायु सेना की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार, 17.5 से 19.5 वर्ष के बीच के उम्मीदवार ही वायु सेना के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

Image Credit - Unsplash

NDA परीक्षा करनी होगी क्वालीफाई

कार का इंश्योरेंस ऑनलाइन कैसे करें ? आए बताते हैं आपको

............